क्या कमाल की रात थी वो

हेलो! मैं राजेश हूँ। मैं १८ का हूँ। Hindi Sex Stories Antarvasna Kamukta Sex Kahani Indian Sex Chudai
Antarvasna आज मैं आपको मेरी क्लास टीचर के साथ मेरी पहली चुदाई के बारे मे बताऊंगा।
मैं एक विध्यार्थी हूँ। मुझे ब्लू-फिल्म देखने की आदत हैं। लेकिन मैं एक
बार सच मे ही किसी हसीना को चोदना चाहता था।
मेरी क्लास टीचर का नाम मधु हैं। वो २६ साल की खूबसूरत हसीना थी। और सबसे
मजे की बात ये है कि वो मेरी पडोस मे ही रहती थी!
उन्होने मेरी माँ से अच्छी दोस्ती कर ली थी। तो मैं उनके घर कभी-कभी पढाई
करने जाता था।
एक दिन जब मैं उनके घर गया तो देखा कि उन्होने एक लूज़ कमीज और लहंगा पहन
रखा था। उसने ब्रा नहीं पहनी थी और कमीज का गला भी खुला था। उन्होने ने
मुझे पढ़ाना शुरु किया और मैं उनकी चूचुओं को हो देखता रहता। मन कर रहा
था कि मैं ही उनकी चुचुओं को जोर से दबा दू पर हिम्मत नहीं हो रही थी।
मेरा लंड खडा होकर ८ इन्च का हो गया। कुछ देर पढ़ाने के बाद उन्होने
मुझसे कहा, ” तुम अब घर जाओ और अपने माँ से पूछ कर आना यहां सोने के लिये
क्योंकि पता नहीं क्यों मुझे आज बहुत डर लग रहा है!” तो मैं मान गया।
शायद बहुत देर तक कुँवारे रहने के बाद उनके शरीर और चूत मे आग लगी थी!
तो मैने अपने माँ से पूछा तो वो मान गई। फिर मैं उनके घर सोने आया।
फिर जैसे ही मैं आया मल्लिका जी ने मुझे अपने बाहों मे ले लिया और वो
मुझे चूमकर बोलने लगी, “अगर तुम चाहते हो कि मैं तुम्हे इसी तरह पढाऊ और
परीक्षा मे अच्छे अंक दूँ तो तुम्हे आज मेरे साथ सेक्स करना पडेगा और
मेरी प्यास भुजाना पडेगा।” मुझे भी तो वही चाहिये था तो मैं झट से मान
गया।
फ़िर मल्लिका ने अपनी साड़ी उतार दी और सिर्फ़ पेटीकोट और ब्लाउज़ पहन
लिया। मैने उनसे हिम्मत करके कहा, “मैडम एक बात कहूँ – आप जब मेरे सामने
कपड़े बदलती हो तो मुझे ऐसा लगता है कि मैं ही आपका पति हूँ!”
तो उन्होने कहा, “अच्छा तो फ़िर तुम मुझे अपनी बीवी की तरह ही इस्तेमाल
करो!” फ़िर मै उनके स्तनों को पकड़कर मेरे ८ इंच का लंड उनकी कमर को लगा
रहा था।
फिर मैने उसकी गर्दन पर चूमा तो वो गरम आवाजे निकालने लगी, ”
ऊऊऊऊफ़्फ़फ़्फ़फ़्फ़फ़्फ़फ़्फ़फ़्फ़फ़्फ़फ़्फ़फ़ूऊऊऊऊऊऊऊऊऊ
आआआआआआह्हह्हह्हाआआआअ!” प्लीज और जोर से!”
तो मैने उनकी चूचुओ को जोर से दबाया और उन्होंने अपनी कमर का पूरा दबाव
मेरे लंड पर डाल दिया। मैने उनके ब्लाउज़ को ऊपर सरकाकर उनकी नंगी चूचुओं
को चूसा और एक हाथ चूत पर रख दिया। उनकी चूत गीली थी। फिर उन्होने मेरे
लंड को पैंट से बाहर निकाला। फ़िर उसने मेरे 2 इन्च मोटे लंड को अपने
मुंह में ले लिया।
फिर वो बिल्कुल नंगी हो गई। फ़िर उन्होने मुझे बेड पर पटक दिया। और वो भी
लेट गई। मल्लिका जी ने फिर बिना कोई देरी करते हुए मेरे लंड को अपनी गीली
गरम चूत में ले लिया। मेरा लंड उनकी चूत में गया तो मुझे ऐसा लगा कि किसी
गरम भट्टी में मेरा लंड घुस गया है। मेरे लंड के अंदर जाते ही वो
चिहुंकी, “आआआआआआआआअह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हाआआआआ। बडा मजा आ रहा है! और
जोर से चोदो प्लीज!” तो मैं उनको और जोर से चोदने लगा। वो पसीने में भर
गई और जोर से सिसकी भरती रही। मेरी एक चुदाई में वो ३ बार झड़ गई और फ़िर
मैं झड़ा। मेरे झड़ते ही वो ढीली हो गई और वो लम्बी लम्बी सांसे लेने
लगी।
क्या कमाल की रात थी वो!