जवान और खूबसूरत 4

ओह तुम्हारा तो रवी से बहुत मोटा है. ज़रा धीरे धीरे पेलो डारंलीग मैं कही भागी नही जा रही हूँ.” Hindi Sex Stories Antarvasna Kamukta Sex Kahani Indian Sex Chudai
Antarvasna नोहीत मेरी बात सुनकर रूक गया और मेरी चुचीयों को दबाने लगा. वह लंड को मेरी चुत मैं डाले दोनो मम्मो को दबा रहा था. कुछ देर बद दर्द कम हुआ और मज़ा आया तो मैं नीचे से गांड उचकने लगी. वह मेरी क़मर के उछल को देखकर समझ गया और धक्के लगाने लगा. कुछ पल मैं ही उसका लंड मेरी चुत की तह मैं ठोकर मरने लगा. नोहीत के साथ तो अनोखा मज़ा आ रहा था.

उसके पेलने के अंदाज़ से ज़हीर हो रहा था की वह चुदाई में माहीर है. वह मेरे मम्मो को दबाते हुवे चुत की तेह तक हमला कर रहा था. मैं होश खो बैठी थी. उधर चुत चूसने के बाद रवी सुम्मी की चुचीयों को चूस रहा था. सुम्मी अपने हाथ से अपने मम्मों को रवी को चूसा रही थी. सुम्मी ने रवी के कपडे अलग कर दीये थे और उसके लंड को मुठिया रही थी. वह मेरी ऊर देखकर बोली”ओह रवी देखोना नोहीत और रीहाना को कैसे मज़े से चोद रहा है. तुम भी अब मुझे तर्सऔ नही और जल्दी से मुझ को चोदो.” रवी ने सुम्मी के पैरो को अपने कंधे पर रखकर लंड को उसकी चुत पर रगड़ना शुरू कीया तो सुम्मी बोली “ओह्ह हाय मेरे रजा, क्यों मुझे को तडपा रहे हो. हाय जल्दी से मुझ को चोद दो.”

रवी ने अपने लंड को उसकी चुत पर लगा धक्का लगाया तो चौथाई लंड उसकी चुत मैं चला गया. सुम्मी ने उसके चूतादो को दबाते हुवे कहा”येस येस डालो. पुरा डालकर चोदो.” वोः दोनो एक दुसरे के ओप्पोसीट धक्के लगाने लगे और इस तरह रवी का पुरा लंड सुम्मी की चुत मैं चला गया. सुम्मी की चुत के बाल उसके लंड के चारो ऊर फेल गए थे. रवी पुरा पलकर उसके मम्मो को मसलने लगा था. इधर नोहीत मेरी चुत मैं अपने मोटे लंबे लंड को पुक्कक्क पुक्क अंदर बहार कर रहा था और मैं हर धक्के के साथ सिसक रही थी. रवी से चुदवाने से ज़्यादा मज़ा मुझे उस अजनबी नोहित के साथ आ रहा था.

मैं चुद्वाते हुये दूसरी ब्र्थ पर भी देख रही थी. रवी मम्मों को मसलते हुये सुम्मी की चुत को चोद रहा था और वह नीचे से क़मर उचकते हुये रवी की गांड को कुरेद रही थी. अब रवी सुम्मी की चुचीयों को मुँह मैं लेकर चूसते हुवे तेज़ी से चुदाई कर रहा था. सुम्मी मदहोशी मैं बोली”ओह रवी मेरे यार बहुत मज़ा आ रहा है. हाय और ज़ोर से चोदो. पुरा जाने दो फाड़ दो मेरी चुत. चीथड़े उड़ दो.” सुम्मी पूरे जोश मैं अपनी क़मर उचककर लंड का मज़ा ले रही थी. मैं उन्दोनो की चुदाई का नज़ारा करते नोहीत से चुद्वा रही थी. नोहीत ज़ोर ज़ोर से धक्के लगाने लगा तो मुझे एसा लगा की मेरी चुत से पानी नीकल पड़ेगा.एसा महसूस करते ही मैं नोहित से बोली”आह नोहित डारंलीग मेरा निकलने वाला है. रजा मेरी हेल्प करो तुम भी मेरे साथ ही अपनी मलाई मेरी चुत मैं ही निकालो.” नोहित पर मेरी बोली का असर हुआ और वह तेज़ी से चुदाई करने लगा. कुछ देर मैं ही मेरी चुत से फव्वारा चलने लगा और मेरे साथ ही नोहित के लंड की पिचकारी भी चल दी. उसकी पिचकारी ने गरम पानी से मेरी चुत भर दी. जब मेरी चुत भर गयी तो मलाई चुत से बहार निकलने लगी. झड़ने के बाद हम्दोनो एक दुसरे लीपताकर उखड़ी साँसों को दुरुस्त करने लगे. मेरा ध्यान फीर सुम्मी की तरफ गया. सुम्मी मदहोशी मैं कराह रही थी और कमा को हवा मैं लहराते हुवे रवी से चुद्वा रही थी. कुछ देर बाद जब नोहीत अलग हुआ तो मैं उठकर सुम्मी के पास गयी. मेरी चुत लंड के पानी से चीप्चीपा गयी थी और नोहीत के लंड ने इतना ज़्यादा पानी उगला था की जान्घे तक भीगी थी. मैं ऐसे ही सुम्मी के पास गयी और उसको लीपस पर कीस करने लगी.

सुम्मी ने मेरी गर्दन दो अपने हाथो से पकड़ लीया और मेरे सीर को अपनी चुचीयो पर लाने लगी. मैं समझ गयी की वह अपनी चुचीयो को चुस्वाना चाहती है. मैं उसके एक माम्मे को मुँह मैं लेकर चूसने लगी. उसकी एक मोटी मोटी चूची को चूसते हवे मैं दूसरी को दबाने लगी. सुम्मी चुत्ड़ तेज़ी से उठाने गीराने लगी और रवी भी ज़ोर ज़ोर से धक्के देने लगा. २०-२२ धक्को के बाद सुम्मी की गांड रूक गयी. उसकी चुत से पानी गीरने लगा था. रवी ने भी दो चार धक्के और लगाए और सुम्मी के ऊपर लेटकर लंबी लंबी साँसे लेने लगा. उसका लंड भी गरम लावा नीकल रहा था. रवी अपनी क्लास्स्मेट की चुत मैं अपने लंड का माल उन्देल रहा था.

वोः दोनो काफी देर तक सुस्त होकर एक दुसरे से चिपके रहे. फीर वोः अलग हुवे तो मैंने सुम्मी की और अपनी चुत साफ की फीर दोनो के ढीले लडों को भी साफ कीया. फीर हमलोग अलग होकर सोने चले गए. मुझे नीद नही आ रही थी. मेरी आंखों के सामने दोनो के लंड नाच रहे थे. नोहीत का देल्ही मैं अपना फ़्लैट था और व्हो उन्मर्रिएद् था. उसने रवी और मुझ को अपने फ़्लैट मैं रुकने को कहा तो मैं तैयार हो गयी. सुम्मी अपनी कजीन के घर चली गयी. नोहीत ने उसको भी अपनी details देदी. नोहीत के फ़्लैट पर उस ने मुझे फीर चोदा !