Hindi Sex Stories मस्तानी हसीना 17

” अच्छा दीदी! इतना दम कहाँ से आ गया? ज़रा फेंक के तो दिखाओ.”

Hindi Sex Stories Antarvasna Kamukta Sex Kahani Indian Sex Chudai
Antarvasna ” तो ये ले.” मैने अपने चूतर ऊपर की ओर उच्छालते हुए कहा. विकी के लंड का
सुपरा मेरी बुरी तरह गीली चूत के मुँह पे तो था ही, इस धक्के के कारण फ़च
से एक इंच अंडर घुस गया. मेरे मुँह से बड़ी ज़ोर से चीख निकलने वाली थी.
मैने बड़ी मुश्किल से अपने आप को संभाला. मेरी चूत का छेद इतने मोटे लंड के
अंडर घुसने के कारण बुरी तरह चौड़ा हो गया था. मेरा दिल ज़ोर ज़ोर से धक
धक करने लगा. मैं घबरा गयी. हाई राम कहीं चूत फॅट ही ना जाए!

” बस दीदी इतना ही दम है?” विकी मुझे और ज़ोर से गुदगुदाने लगा. शायद विकी
को पता नहीं था कि उसका लॉडा मेरी चूत में दाखिल हो चुका था. उसने कभी
किसी लड़की को आज तक चोदा तो था नहीं. मैने भी उसकी नादानी का फ़ायदा उठाया
और अपने चूतर उछाल उच्छाल के उसे अपने ऊपर से गिराने का नाटक करने लगी.
ऐसा करने से धीरे धीरे विकी का लंड 3 इंच मेरी चूत में उतर चुका था. मुझे
ऐसा महसूस हो रहा था जैसे मेरी चूत में किसीने पेड का तना घुसेड दिया
हो.विकी को भी अजीब सा महसूस हो रहा था लेकिन अभी तक उसे समझ नहीं आया था” दिखाओ दीदी हमे भी तो अपना दम
दिखाओ. या फिर सारा दम निकल गया? किसी ऐसे वैसे मर्द से पाला नहीं पड़ा है ”
विकी मुझे चिड़ाते हुए बोला. मैने पूरी ताक़त से विकी को गिराने का बहाना
करते हुए अपने चूतर ऊपर उच्छाल दिए,

” अच्छा तो ये ले….आाआआईयईईईईईईईईईईईईईई… ऊऊओिइ. एम्म आआआआआ…….. मार
गयीईईईई…ये क्या कर रहा है बेशरम आआआआहह.” इस ज़बरदस्त धक्के से विकी का
मूसल 6 इंच मेरी चूत में धँस गया. विकी के मोटे लंड ने मेरी चूत इतनी
ज़्यादा चौड़ी कर दी की फटने को हो रही थी. लोगों का पूरा लंड ही 6 इंच
लंबा होता है, इसका तो आधा ही लंड अभी मेरी चूत में घुसा था! हाई राम! पूरा
घुस गया तो क्या होगा? मेरी चीख सुन के विकी बुरी तरह घबरा गया,

” क्या हुआ दीदी?”

” इसस्स्स्सस्स………अंजान बनता है …….आआआआः. तुझे शरम नहीं आती मैं तेरी
दीदी हूँ. तेरी सग़ी बेहन हूँ.ऊऊऊफ़, मर गयीईईईईई….इससस्स” ये कहते हुए
मैने विकी का लंड पकड़ लिया और बिस्तेर के पास रखे टेबल लॅंप को ऑन कर
दिया. लंड तो मैने इसलिए पकड़ लिया कि कहीं वो घबरा के बाहर ना निकाल ले,
लेकिन नाटक ऐसा किया जैसे मैं उसके लंड को और अंडर घुसने से रोक रही हूँ.
लाइट ऑन होते ही मुझे अपने नीचे नंगी देख कर विकी के होश उड़ गये. वो
हकलाता हुआ बोला,

” ये क्या दीदी आप के कपड़े…?”

” चुप, बेशरम! भोला बनता है. गुदगुदी करने के बहाने मेरा गाउन खोल दिया.
मुझे पता ही नहीं चला तूने अपनी लूँगी कब उतारी. अपनी दीदी के साथ बलात्कार
कर रहा है अंधेरे का फ़ायदा उठा कर.”

” नहीं दीदी आपकी कसम…..” विकी बुरी तरह घबराया हुआ था.
कि क्या हो रहा है.